Wednesday, October 7, 2009

Shekhar - Ek Jeevani....Agyeya

Sachidanand Hiranan Vatsyayan "Agyeya" यह नाम हिंदी साहित्य का बहुत सुप्रसिद्ध नाम है | बचपन में उनकी कुछ कवितायेँ पढ़ी थी...जो प्रायः शिक्षक लोगों को भी नहीं समझ में आती थीं तो हमारे लिए तो मुश्किलें थोडी ज्यादा ही होती थीं. वह संघर्ष अच्चा होता था...जब ऐसे किसी साहित्यकार के दर्शन को परीक्षा में पास होने के लिए पढ़ लेते थे |
कुछ वर्ष पश्चात मुझे एक अवसर मिला जब मैंने अज्ञेय जी की "शेखर - एक जीवनी" पढ़ने का सुअवसर प्राप्त हुआ | इसके २ खंड थे और मैंने पहलखंड पढ़ना शुरू किया था | यस एक बच्चे की कहानी थी जो कई सरे भाई बहनों में उपेक्षित था | इस बच्चे का बाल्य काल और इसकी सोच को बहुत ही उत्तम तरीके से प्रस्तुत किया गया था | शेखर का शुरूआती जीवन और भाई बहनों में दब गया था और एक उपेक्षित बाल्य काल में शेखर की अपनी अनुभूतिया कुछ इस तरह से लिखा गया है ... कि पढ़ते समय आप मुग्ध हो जायेंगे | शेखर कि यह सिद्ध करने कि जिद कि मैं भी हूँ और उसके लिए एक अपने आपको कुछ भी करने के लिए प्रस्तुत रहना, बहुत अच्छी तरीके से लिखा गया है | एक वाकया जिसमें कि शेखर को यह लगता है कि वह किसी बीमारी से ग्रस्त है...और एन्स्य्क्लोपेडिया में इस बीमारी को खोजना .... शेखर एक एक करके सारी बिमारियों का लक्षण देख रहा है और उसको काफी कुछ उसके अपने बीमारी के लक्षणों से मिलाता जुलता लगता है | जब वो अंतिम बीमारी तक पहुंचता है तो इस बीमारी में व्यक्ति को ये लगता है कि वो और सारी बिमारियों, जो उसने अभी तक पढीं, उन सबसे पीड़ित है | इस तरह के और कई सरे वाकये हैं जो इस साहित्य कृति को उत्कृष्ट बनाते हैं |

आज कि तारीख में यह साहित्य मिलाना शायद मुश्किल हो....लेकिन अगर मिले तो अवश्य पढें |

अन्य :

अज्ञेय - on Wikipedia
आप यहाँ खरीद सकते हैं |

4 comments:

  1. ब्लॉग जगत में आपका स्वागत हैं, लेखन कार्य के लिए बधाई
    यहाँ भी आयें आपका स्वागत है,
    http://lalitdotcom.blogspot.com
    http://lalitvani.blogspot.com
    http://shilpkarkemukhse.blogspot.com
    http://ekloharki.blogspot.com
    http://adahakegoth.blogspot.com
    http://www.gurturgoth.com
    http://arambh.blogspot.com
    http://alpanakegreeting.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. चिटठा जगत में आपका हार्दिक स्वागत है. आप बहुत अच्छा लिख रहे हैं, और भी अच्छा लिखें, लेखन के द्वारा बहुत कुछ सार्थक करें, मेरी शुभकामनाएं.
    ---

    ---
    हिंदी ब्लोग्स में पहली बार Friends With Benefits - रिश्तों की एक नई तान (FWB) [बहस] [उल्टा तीर]

    ReplyDelete
  3. hmm..i agree.i liked shekhar very much.infact it was my ideal book for many years i think till class 8th or 9th..and is still a favourite. I liked that flower collecting incident and the one where shekhar's father wrote his own name in front of his and many more...i was so inspired by that flower collection thing that i started my own !! u can see in my post on my blog. http://sunshineandblueclouds.blogspot.in/

    ReplyDelete